-->

उत्तर प्रदेश : अर्थव्यवस्था एवं मानव संसाधन

उत्तर प्रदेश : अर्थव्यवस्था एवं मानव संसाधन

उत्तर प्रदेश के खनिज संपदा वाले जिले



उत्तर प्रदेश भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है। उत्तर प्रदेश का क्षेत्र फल भारत के कुल क्षेत्रफल का 7.33 प्रतिशत है। इस दृष्टि से राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र राज्यों के बाद इसका चौथा स्थान है।जनसंख्या की दृष्टि से यह भारत का अग्रणी राज्य है। यहां भारत की कुल जनसंख्या की 16.5 % जनसंख्या निवास करती है। हमारे प्रदेश का भारत की अर्थव्यवस्था में भी प्रमुख योगदान है।

कृषि
उत्तर प्रदेश राज्य का अधिकांश भाग मैदानी है, जो उपजाऊ जलोढ मिट्टी से बना है । तराई क्षेत्र की समतल , नम और दलदली मिट्टी भी कृषि हेतु महत्त्वपूर्ण है उचित सिंचाई एवं उर्वरकों के प्रयोग द्वारा दक्षिण के पठारी भाग में भी दलहनी फसलों की पैदावार अच्छी होती है।हम हमा प्रदेश की जलवायु मानसूनी है । यहां की अनुकूल भौगोलिक संरचना एवं जलवायु के कारण हमारा प्रदेश कृषि एवं पशुपालन की दृष्टि से एक सम्पन्न राज्य है।

उत्तर प्रदेश में रबी, खरीफ एवं जायद तीनों प्रकार की फसलें प्राप्त की जा सकती हैं। खरीफ की फसल के अन्र्तगत गेहूं, जौ, चना , मटर, सरसों, आलू, तम्बाकू आदि। जायद की फसल के अन्र्तगत ककड़ी, खीरा, तरबूज, खरबूज, लौकी आदि फसलें प्राप्त की जा सकती हैं। गन्ना इस राज्य का प्रमुख नकदी फसल है।

कुल खाद्यान्न उत्पादन की दृष्टि से अन्य राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेश का प्रथम स्थान है । गेहूं, गन्ना, आलू, आम व आंवला उत्पादन में भी उत्तर प्रदेश अग्रिणी है। दुग्ध उत्पादन में भी प्रदेश सर्वोच्च स्थान पर है।

सिंचाई
उत्तर प्रदेश की कुल कृषि भूमि का लगभग तीन चौथाई से अधिक क्षेत्र सिंचित है। यहां सिंचाई के प्रमुख साधन नलकूप, नहर, कुआं, तालाब, झील आदि हैं। कुल सिंचित भूमि का सर्वाधिक भाग नलकूपों द्वारा सिंचित है । उत्तर प्रदेश में नहर सिंचाई की भूमिका भी महत्वपूर्ण है। प्रदेश की प्रमुख नहरें शारदा नहर, ऊपरी गंगा नहर, निचली गंगा नहर आदि । शारदा नहर प्रदेश की सबसे लम्बी नहर है।

खनिज
प्रदेश खनिज संपदा की दृष्टि से अधिक सम्पन्न नहीं है, किन्तु प्रदेश के दक्षिण के पठारी भाग में चूना पत्थर, डोलोमाइट, कांच, बालू, कोयला बाक्साइट , जिप्सम, संगमरमर, यूरेनियम जैसे खनिज पाए जाते हैं। इन खनिजों का विवरण निम्नवत है-


                    चूना पत्थर  -   मिर्जापुर, सोनभद्र.        
                   डोलोमाइट  -   मिर्जापुर, सोनभद्र, बांदा
                   कांच बालू   -   प्रयागराज, बादा
                    बाक्साइट   -   बांदा
                   कोयला       -   सिंगरौली (सोनभद्र)
                   जिप्सम      -    झांसी, हमीरपुर, मिर्जापुर
                  संगमरमर    -    मिर्जापुर,  सोनभद्र
                   यूरेनियम    -    ललितपुर


उद्योग
औद्योगिक दृष्टि से उत्तर प्रदेश राज्य मध्यम श्रेणी का राज्य है। प्रदेश में कृषि आधारित उद्योग जैसे सूती वस्त्र, हथकरघा, चीनी उद्योग, आदि विकसित हैं। प्रदेश की अर्थव्यवस्था में वनस्पति तेल, सीमेंट, चमडाच उद्योग भी अपनी भूमिका निभाते हैं।

सूती वस्त्र उद्योग   -   कानपुर, वाराणसी
कालीन उद्योग      -   भदोही.              
सीमेंट उद्योग       -     चुर्क, डाला .      
इलेक्ट्रॉनिक उद्योग-    नोएडा, लखनऊ 
चमड़ा                -     कानपुर, आगरा  
वनस्पति तेल उद्योग-    कानपुर,  मेरठ . 
खेल का सामान     -     मेरठ .             

उत्तर प्रदेश में औद्योगिक विकास को गति देने के लिए,1981में उद्योग बन्धु योजना की शुरुआत की गई। इसके पहले 1976 में प्रदेश के प्रथम औद्योगिक विकास के रूप में नोएडा (new Okhla industrial development Authority- NOIDA) की स्थापना की गई। इसके बाद प्रदेश में कई अन्य औद्योगिक विकास प्राधिकरणों जैसे- जौनपुर में सीडा (Sattahria industrial development Authority), गोरखपुर में गीडा ( Gorakhpur industrial development Authority), भदोही में बीड़ा (Bhadohi industrial development Authority) आदि की स्थापना की गई।
NOIDA-  New Okhla industrial development Authority- (Noida)

SIDA- Sattahria industrial development Authority (Jounpur)
GIDA- Gorakhpur industrial development Authority (Gorakhpur)
BIDA - Bhadohi industrial development Authority (Bhadohi)


जनसंख्या एवं नगरीकरण
जनसंख्या 2011 के अनुसार उत्तर प्रदेश कुल जनसंख्या लगभग 19.98 करोड़ है । इनमें 52.29 प्रतिशत पुरुष एवं 47.71 प्रतिशत महिलाएं हैं। सम्पूर्ण विश्व में केवल 4 ही ऐसे देश हैं, जिनकी जनसंख्या उत्तर प्रदेश से अधिक है । ये देश चीन, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, इण्डोनेशिया हैं।

जनसंख्या के घटक           भारत                उत्तर प्रदेश             

दशकीय वृद्धि दर                  17.7%               20.22%
जनसंख्या घनत्व   382 व्यक्ति/वर्ग किमी.   828 व्यक्ति/वर्ग किमी        साक्षरता (कुल)                   73.0%                   67.7%
साक्षरता (पुरूष)                  80.9%                 77.3%
साक्षरता(महिला)                  64%                     57.2%
लिंगानुपात                         943                       912
नगरीय जनसंख्या                 31.16%               22.3%
     

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां