CTET UPTET MPTET REET special पशु पक्षी

       सीटेट स्पेशल: पशु पक्षी

CTET UPTET  MPTET REET special  पशु पक्षी


1. कौआ -कौऐ  के घोंसले लोहे के तार लकड़ी की शाखाओं से बने होते हैं।

  • कौआ अपना घोंसला पेड़ों की ऊंची डाल पर बनाता है।
  • कौआ भूटान का राष्ट्रीय पक्षी है।

2. कोयल -
कोयल अपना घोंसला नहीं बनातीं है । यह अपने अंडे कौए के घोंसले में देती है।

3. गौरेया - गौरेया अपना घोंसला कहीं भी बना लेती है। जैसे- अलमारी के ऊपर, आइने के पीछे, दीवार पर।

4. कबूतर - कबूतर भी गौरेया की तरह अपना घोंसला कहीं भी बना लेती है। जैसे - पुराने मकानों में, खंडहरों में

5. बसंत गौरी - बसंत गौरी पेड़ के तने गहरा छेंद बनाकर उसमें अंडा रखती है। तथा गर्मी के मौसम में टुरु कुरु करती है।

6. दर्जिन - दर्जिन चिड़िया अपनी नुकीली चोंच से पत्तो को सीं लेती है, फिर उसके बीच बनी देवी मेें अंडे देती है।

7. शक्कर खोरा - शक्कर खोरा अपना घोंसला किसी छोटे पेड़ या डाली पर लटकता हुआ घोंसला बनाता है।

  • इसके घोंसले में बाल, घास, टहनियां, सूखे पत्ते, कपड़ों के चीथड़े, मकड़ी के जाले जैसे बने होते हैं।
8. कैसोबरीी - यह पक्षी न्यूगिनी देश में  पाया जाता है । यह विश्व की सबसे क्औरर खतरनाक चिड़िया है

9. फाख्ता - फाख्ता अपना  घोसला कैक्टस के कांटों के बीच या मेंहदी के पेड़ पर अपना घोंसला बनाती है।

10. बीबर पक्षी - बीबर पक्षियों में नर पक्षी अपने दो घोंसले बनाते हैं और मादा बीबर उन घोंसलों का निरीक्षण करती है और उसे जो घोंसला सही लगता है उसमें अंडा रखती है।

11. कलचिडीं (इण्डियन रोविन)  यह अपने अंडे पत्थरों के बीच बने घोंसले में देती है इसका घोंसला घास का बना होता है। इसके ऊपर नाजुक टहनी , जड़ें, उन, बाल, रूई,बिछी होती है।

12. सचिव पक्षी - यह दक्षिणी अमेरिका में पाया जाने वाली विशाल चिड़िया है। यह जहरीलें सांपों का शिकार करती है।

13. मैना - यह झटके के साथ अपनी गर्दन आगे पीछे करती है।(CTET 2019)

14. उल्लू🦉- उल्लू अपनी गर्दन काफी हद तक पीछे घुमा सकता है

15. चील, बाज, गिद्ध- ये पक्षी हमसे चार गुना अधिक दूर देख सकते हैं।

16. कठफोड़वा - यह पक्षी  लकड़ी में छेंद कर उसमें छुपे कीड़े खाता है

17 डाल्फिन - डाल्फिन भी अलग-अलग तरह की आवाजें निकालतीं है। और एक दूसरे से बातें करती हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ