रामसर साइट्स इन इंडिया 2021


रामसर साइट्स इन इंडिया 2021


 यह एक अंतर्राष्ट्रीय संधि है जिस पर 2 फरवरी 1971 को ईरान के राम सर स्थल नामक स्थान पर यह एक सम्मेलन हुआ जिसे रामसर स्थल नाम से जाना जाता है। भारत में वर्तमान में इनकी कुल संख्या 46 हैं।

रामसर सम्मेलन

जैव विविधता पृथ्वी पर जल एवं स्थल दोनों जगह पर पायी जाती हैं आद्रभूमियां भी जैव विविधता का बड़ा संग्रह हैं। ये स्थल जलीय तथा शुष्क स्थलीय पारिस्थितिकी तंत्र के बीच के क्षेत्र हैं। ये स्थल प्रकृति में पानी सोखने और छानने के विशाल स्पंज हैं। ये पोषक पदार्थों की मात्रा को कम करके तलछटों को हटाकर जल को शुद्ध करते हैं।

वर्तमान में विश्व भर में स्थित रामसर स्थलों की संख्या 2388 है। इन रामसर स्थलों के अन्र्तगत कुल 253,870,023 हेक्टेयर क्षेत्र अच्छादित है । सबसे ज्यादा 175 रामसर स्थल ब्रिटेन में, इसके बाद मोक्सिको 142 का स्थान है। रामसर सचिवालय का मुख्यालय ग्लैंड (स्विटजरलैंड) में है।

विश्व आद्रभूमि 2018 की थीम - धारणीय शहरी भविष्य हेतु
विश्व आद्रभूमि 2019 की थीम - आद्रभूमि और जलवायु
विश्व आद्रभूमि 2020 की थीम - आद्रभूमि और जैवविविधता

भारत में आद्रभूमियों के अन्र्तगत सर्वाधिक क्षेत्र वाला राज्य गुजरात तथा इसके बाद आन्ध्र प्रदेश आता है।

रामसर स्थलों की सूची 2021

शामिल होने का वर्ष स्थल राज्य क्षेत्रफल (हेक्टेयर में)
1981 चिल्का झील  ओडिशा116500
1981 केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान 2873
1990 हरिके झीलपंजाब  4100
1990 लोकटक झील मणिपुर 26600
1990 सांभर झील राजस्थान24000
1990 वुलर झीलजम्मू कश्मीर
18900
2002 अष्टमुखी आद्रभूमि केरल61400
2002 भीतरकनिका मैंग्रोव ओडिशा 65000
2002 भोज आद्रभूमिमध्यप्रदेश 3201
2002 कांजली पंजाब 183
2002 दीपोर बील असम4000
2002 कोलेरू झील आंध्र प्रदेश90100
2002 प्वाइंट केलिमियर वन्यजीव और पक्षी अभयारण्यतमिलनाडु38500
2002 पौंग बांध झील हिमाचल प्रदेश15662
2002 रोपड़ पंजाब 1365
2002 सास्थामकोट्टाकेरल 373
2002 सो-मोरिरी जम्मू कश्मीर 12000
2002 वेंबनाद झील केरल151250
2002 पूर्वी कल्कत्ता आर्द्र भूमिपश्चिम बंगाल
12500
2005 चन्द्रताल आर्द्र भूमि हिमाचल प्रदेश49
2005 होकेरा आर्द्र भूमि j&k 1375
2005 रेणुका आर्द्र भूमिहिमाचल प्रदेश 20
2005 रूद्रसागर झील त्रिपुरा 240
2005 सुरिंसर मानसर झील  j&k350
2005 ऊपरी गंगा नदीउत्तर प्रदेश 26590
2012 नलसरोवर 
गुजरात12000
2019 सुंदरवन आर्द्र भूमि पश्चिम बंगाल 423000
2019 केशोपुर मिथानीपंजाब 344
2019 व्यास कंजर्वेशन रिर्जव  पंजाब 6429
2019 नांगल वन्यजीव अभयारण्य पंजाब116
2019 नंदूर मधमेश्वर महाराष्ट्र
1437
2019 नवाबगंज पक्षी अभयारण्य उत्तर प्रदेश225
2019 पार्वती आरगा पक्षी अभयारण्य उत्तर प्रदेश 722
2019 समसपुर पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश 799
2019 सरसईनावर झील  उत्तर प्रदेश 161
2019 साण्डी पक्षी अभयारण्य उत्तर प्रदेश309
2019 समान पक्षी अभयारण्यउत्तर प्रदेश
526
2020 काबरताल बिहार -
2020 आसन कंजर्वेशन रिर्जवउत्तराखंड -
2020 लोनार झील महाराष्ट्र -
2020 सुर सरोवर झील (केथम) उत्तर प्रदेश (आगरा)-
2020 त्सो कर आर्द्र भूमिलद्दाख 1800
2021 सुलतानपर राष्ट्रीय उद्यान गुरुग्राम, हरियाणा-
2021 भिंडवासा वन्यजीव अभ्यारणझज्जर, हरियाणा -
2021 थोल झील मेहसाण, गुजरात -
2021 वधावन वैटलैंड (46वीं) बड़ोदरा, गुजरात-
UPDATE 16/08/2021
माॅन्ट्रियो रिकार्ड -  यह अंतर्राष्ट्रीय आर्द्र भूमियों का रजिस्टर है।

 

रामसर साइटस् से बनने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न

1. वेटलैंड दिवश मनाया जाता है- 2 फरवरी को।
2. किस राज्य में भारत की सबसे बड़ी अंतर्देशीय लवणीय आर्द्र भूमि - गुजरात
3. पारिस्थितिकी निकाय के रूप में आर्द्र भूमि किस हेतु उपयोगी है- 
  • पोषक पुनर्प्राप्ति एवं चक्रण हेतु
  • पौधों द्वारा अवशोषण के माध्यम से भारी धातुओं को अवमुक्त करने हेतु
  • तलछट रोककर नदियों का गादीकरण  कम करने हेतु
4. भारत का 42 वां सामसर साइट्स कौन सा है - त्सो कर ( लद्दाख)
5. विश्व भर में रामसर स्थलों की कुल संख्या - 2388
6. भारत का सबसे बड़ा व पहला वैटलैंड - चिल्का (उडीसा)
7. भारत का 46वां सामसर साइट्स कौन सा है - वधावन वैटलैंड (बडोदरा)
8. भारत का सबसे छोटा वैटलैंड कौन सा है - रेणुका आद्रभूमि (हिमाचल)
9. उत्तर प्रदेश कुल आद्रभूमियों की संख्या कितनी है - 8 


यह भी पढ़ें - 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ