UPTET Syllabus 2021 in hindi | देखें UPTET 2021 का पाठ्यक्रम क्या है

इस पोस्ट में बात करेंगे हम उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा के सिलेबस के बारे में उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी (UPTET2021 Syllabus) इस परीक्षा का सिलेबस क्या है ? और और कैसे हमें पढ़ाई करनी है जिससे यूपीटीईटी 2021 की परीक्षा में अधिक से अधिक मार्क अर्जित कर सकें। 

UPTET Syllabus 2021 in hindi | देखें UPTET 2021 का पाठ्यक्रम क्या है

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा मी 5 विषय होते हैं जो इस प्रकार से हैं-

1. बाल विकास एवं शिक्षण विधियां
2. हिंदी भाषा
3. अंग्रेजी या संस्कृत (द्वितीय भाषा)
4. पर्यावरण एवं शिक्षण विधियां
5. गणित
 

बाल विकास एवं शिक्षण विधियां

  • बाल विकास का अर्थ आवश्यकता तथा क्षेत्र बाल विकास की अवस्थाएं शारीरिक विकास, मानसिक विकास, संवेगात्मक विकास, भाषा विकास, अभिव्यक्ति क्षमता का विकास, सृजनात्मकता एवं सृजनात्मकता क्षमता का विकास।
  • बालक के विकास को प्रभावित करने वाले कारक।
  • सीखने का अर्थ तथा सिद्धांत, अधिगम सीखने का अर्थ प्रभावित करने वाले कारक, अधिगम की प्रभावशाली विधियां।
  • अधिगम के नियम, थार्नडाइक के सीखने के मुख्य नियम एवं अधिगम में उनका महत्व।
  • अधिगम के प्रमुख सिद्धांत तथा कक्षा शिक्षण में नीति व्यवहारिक उपयोगिता हिंदी वर्णमाला विराम चिन्ह का प्रयास एवं त्रुटि का सिद्धांत बदलाव का संबंध प्रतिक्रिया का सिद्धांत स्किनर का क्रिया प्रसूत अधिगम सिद्धांत कोहलर का सूझ या अंतर्दृष्टि का सिद्धांत पियाजे का सिद्धांत वाइगोत्सकी का सिद्धांत सीखने के वक्र अर्थ एवं प्रकार सीखने में पठार का अर्थ
  • शिक्षण का अर्थ तथा उद्देश्य, संप्रेषण, शिक्षण के सिद्धांत, विकर्षण के सूत्र।
  • चिंतन , कल्पना, बुद्धि बुद्धि के प्रकार सामान्य बालक, विशिष्ट बालक, पिछड़े बालक।
  • समावेशन तथा समायोजन
  • सूक्ष्म में शिक्षण शिक्षण की नवीन विधियां
  • समावेशी शिक्षा

हिन्दी भाषा 

हिंदी वर्णमाला, विराम चिन्ह, शब्द रचना अर्थ वाक्य रचना शब्द रूप, संधि, समास, क्रियाएं अनेकार्थी शब्द, विलोम शब्द, पर्यायवाची शब्द, मुहावरे एवं लोकोक्तियां, तत्सम एवं तद्भव देशज विदेशज शब्द, वर्तनी संबंधी अशुद्धियां, अर्थबोध, विशेषण तथा विशेष्य, भाषा विज्ञान, हिंदी पद पद रचना और रचनाकार, संज्ञा, सर्वनाम, भाषा अर्जन, भाषाई कौशल।

संस्कृत एवं शिक्षण विधियां

वर्ण विचार, स्वर और व्यंजन, महेश्वर सूत्र, प्रत्याहार, वर्णों का उच्चारण स्थान, वर्णों का अभ्यांतर वाह्य प्रयत्न, संधि, समास, कारक, प्रत्यय, उपसर्ग एवं अव्यय पर्यायवाची, शब्द विलोम, शब्द वाच्य परिवर्तन, शब्द रूप, सर्वनाम रूप , धातु रूप ,भाषा विकास का अध्यापन, भाषा कौशल।

गणित तथा शिक्षण विधियां

संख्या पद्धति, घातांक कथा करणी, लघुत्तम समापवर्तक महत्तम समापवर्तक, सरलीकरण, प्रतिशत, लाभ हानि, साधारण ब्याज, चक्रवर्ती ब्याज, समय कार्य मजदूर एवं पाइप और टंकी चाल समय दूरी, अनुपात समानुपात, आयु संबंधित प्रश्न, बीजगणित, ज्यामिति, कैलेंडर, प्रायिकता ,आयतन घन घनाभ और शिक्षण विधियां।

पर्यावरण एवं शिक्षण विधियां

पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी तंत्र, पर्यावरणीय भूगोल,  जैव विविधता एवं पर्यावरण संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण, राष्ट्रीय उद्यान वन्यजीव अभयारण्य , जैवमंडल आरक्षित क्षेत्र, पर्यावरण कानून एवं अधिनियम, परिवार मित्र, जीव जंतु एवं पेड़ पौधे एवं भोजन, यात्रा तथा परिवहन, विज्ञान, हम चीजें कैसे बनाते हैं,  भारतीय विविधता में एकता , भारतीय जनजातियां लोक कलाएं त्यौहार भाषाएं ,पर्यावरण शिक्षण एवं शिक्षण विधि, हमारा परिवेश, भारतीय संविधान, उत्तर प्रदेश स्पेशल।

UPTET पेपर प्राथमिक स्तर (Ⅰ-Ⅴ)  एवं उच्च प्राथमिक (Ⅴ-Ⅷ)

1. परीक्षा पात्रता हेतु 1:30 से हमको गायक प्रश्नपत्र होता है इसमें इसकी परीक्षा अवधि ढाई घंटे की होती है।
2. प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है।
3. पात्रता परीक्षा के सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे जिनके चार विकल्प होंगे और एक विकल्प का सही चयन करना होगा।
4. परीक्षा का पैटर्न कुछ इस प्रकार से होगा -

विषय प्रश्नो की संख्या निर्धारित अंक
बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र शिक्षा  30 30
हिन्दी भाषा  3030
संस्कृत या अंग्रेजी  30 30
संस्कृत या अंग्रेजी  30 30
गणित 30 30

तो इस प्रकार से उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता का सिलेबस होता है तथा या सीटेट का सिलेबस नेक्स्ट पोस्ट में उस पर चर्चा करेंगे फिलहाल सीटेट का भी सिलेबस सेम यूपीटेट के सामान्य होता है। उसमें शिक्षण विधियां इसे पेडागोजी कहते हैं वह उनकी संख्या 50 पर्सेंट तक होती है।

आप मुझसे सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़ सकते हैं-




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

close