CTET/UPTET EXAM : समावेशी शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न | Inclusive Education Notes

CTET/UPTET EXAM : समावेशी शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न | Inclusive Education Notes


 समावेशी शिक्षा क्या है (what is inclusive education)

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा-2005 (NCF-2005) ने समेकित/समावेशी शिक्षा की संस्तुति की है। इसके अंतर्गत अलग-अलग बुद्धिलब्धि वाले बालक एक साथ एक ही विद्यालय में तथा एक ही कक्षा में शिक्षा ग्रहण करेंगे। इससे उन्हें सहयोगात्मक समायोजन की क्षमता का विकास होगा। विविध शिक्षार्थियों वाली एक समावेशी कक्षा में सहयोगी अधिगम और वयस्कों से सीखने को सक्रिय रूप से प्रोत्साहित किया जाना चाहिए जिससे संदेश को की सक्रियता बड़े साथ ही उनमें सहयोगात्मक भावना का विकास हो।

समावेशी शिक्षा की विशेषताऐं

➯ छात्रों में सहयोगात्मक भावना तथा समायोजन का विकास।
➯ सामान्य बच्चों तथा भिन्न रूप से योग्य बच्चों के लिए एक ही स्कूल।
➯ समावेशी शिक्षा दूसरे बच्चों को संवेदनशील बनाता है कि वह लाभान्वित           बच्चों को दबाऐं नहीं, उन्हें नीचे ना दिखाएं।            
➯ सभी छात्रों में सक्रियता 
➯ सृजनात्मकता का विकास
➯ एक ही वातावरण में सभी को शिक्षा


समावेशी शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न


1. सभी के लिए विद्यालयों में सभी की शिक्षा निम्नलिखित में से किस के प्रचार वाक्य हो सकता है ?
A. संसक्तिशील शिक्षा 
B. समावेशी शिक्षा
C. सहयोगात्मक शिक्षा
D. पृथक शिक्षा
Ans - B

2. विद्यालयों में समावेशन मुख्यत: केंद्रित होता है?
A. विशिष्ट श्रेणी वाले बच्चों के लिए सूक्ष्मातिसूक्ष्म प्रावधानों के निर्माण पर 
B. केवल निर्योग्य छात्रों की आवश्यकताओं को पूर्ण करने पर
C. संपूर्ण कक्षा की कीमत पर निरोग्य बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करने पर
D. विद्यालयों में निरक्षर अभिभावकों की शैक्षिक आवश्यकताओं पर
Ans - A

3. बच्चों के लिए नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 के लिए लागू है !
A. 6-14 वर्ष  
B. 7-13 वर्ष
C. 5-11 वर्ष
D. 6-12
Ans - A

4. एक शिक्षक को स्कूल में प्रथम बार आए विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को एक साथ करना चाहिए ?
A. अन्य बच्चों से अलग करना
B. बच्चे के अभिभावक से सहयोगी योजना की चर्चा 
C. उसकी विशेष आवश्यकता के अनुसार विशेष स्कूल में जाने की सलाह
D. बच्चे की विशेष आवश्यकता के स्तर की जांच के लिए प्रवेश परीक्षा
Ans - c

5. आरटीआई एक्ट 2009 के अनुसार प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों के प्रति सप्ताह में कुल कितने घंटे की योजना बनाकर कार्य करना है ?
A. 45 घंटा  
B. 44  घंटे
C. 42 घंटे
D. 50 घंटे
Ans - A

6. जब एक निर्योंगे बच्चा पहली बार विद्यालय आता है तो शिक्षक को क्या करना चाहिए ?
A. सहकारी योजना विकसित करने के लिए बच्चे को माता पिता के साथ चर्चा करनी चाहिए।
B. बच्चों की निर्योग्यता के अनुसार उसे विशेष विद्यालय में भेजने का प्रस्ताव देना चाहिए
C. उसे अन्य विद्यार्थियों से अलग रहना चाहिए
D. उपर्युक्त में से सभी
Ans - A

7. एकल अभिभावक वाले बच्चों को पढ़ाते समय शिक्षक को..
A. स्थिर और एक रूप वातावरण उपलब्ध कराना चाहिए
B. इस तथ्य को अनदेखा कर देना चाहिए और ऐसे बच्चों को अन्य बच्चों के समान व्यवहार करना चाहिए
C. ऐसे बच्चे को कम गृह कार्य देना चाहिए
D. इस प्रकार के बच्चों के साथ भिन्न प्रकार से व्यवहार करना चाहिए
Ans - b

8. निशक्त बच्चों के लिए समेकित शिक्षा की केंद्रीय प्रायोजित योजना का उद्देश्य है....... मैं निशक्त बच्चों को शैक्षिक अवसर उपलब्ध कराना
A. मुक्त विद्यालयों
B. ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन के विद्यार्थियों
C. नियमित विद्यालयों
D. विशेष विद्यालयों 
Ans - c

9. शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के क्रियान्वयन के बाद कक्षा-कक्ष
A. जेंडर के अनुसार अधिक समजातीय हैं।
B. आयु के अनुसार अधिक समजातीय है।
C. आयु के अनुसार विषमजातीय है।
D. आप प्रभावित हैं क्योंकि शिक्षा का अधिकार विद्यालय में कक्षा की औसत आयु को प्रभावित नहीं करता। 
Ans - b

10. एक समावेशी कक्षा वह है जहां-
A. तब तक आकलन की पुनरावृत्ति होती रहती है जब तक प्रत्येक अधिगमकर्ता न्यूनतम श्रेणी प्राप्त ना कर ले
B. विद्यार्थियों का भार कम करने के लिए अध्यापक केवल अनुमोदित पुस्तकों सें ही पढ़ते हैं।
C. समस्याओं का अधिकारी का समाधान करने की संभावना की दृष्टि से बच्चों की सक्रिय भागीदारी ता रहती है
D. अध्यापक प्रत्येक अधिगमकर्ता के लिए वैविध्य पूर्ण हुआ सार्थक अधिगमात्मक अनुभवों हेतु परिवेश का निर्माण करते हैं
Ans - D


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

close