CTET EXAM 2021: ब्लूम, जीन पियाजे, लेव वाइगोत्सकी पर आधारित प्रश्न जो सभी शिफ्टों में पूछे गए हैं

अब तक की सीटेट एग्जाम के शिफ्टों में ब्लूम, जीन पियाजे, लेव वाइगोत्सकी तथा कोहलवर्ग से सर्वाधिक प्रश्न पूछे गये हैं। अगर आप सीटेट एग्जाम की परीक्षा दे रहे हैं तो आप इन टाॅपिकों पर अधिक फोकस करें जिससे आप परीक्षा में अधिक अंक अर्जित कर सकेंगे।

CTET EXAM 2021: ब्लूम, जीन पियाजे, लेव वाइगोत्सकी पर आधारित प्रश्न जो सभी शिफ्टों में पूछे गए हैं


CTET EXAM दो चरणों में होता है, पहला प्राथमिक स्तर के शिक्षक बनने के लिए व दूसरा जूनियर हाईस्कूल का शिक्षक बनने के लिए। यह परीक्षा पास करने पर आप केंद्र सरकार के विद्यालयों में आवेदन करने के योग्य हो जातें हैं। इसमें सामान्य वर्ग को 90 अंक, अन्य पिछड़ा वर्ग व SC,ST को 82 अंक उत्तीर्ण होने के लिए आवश्यक होते हैं।

जीन पियाजे पर आधारित प्रश्न


1. पियाजे के अनुसार बच्चों का चिंतन व्यस्क से.... भिन्न होता है बजाय.....के।

A. मात्रा; प्रकार

B. आकार; मूर्तपरकता

C. प्रकार; मात्रा

D. आकार; किस्म

Ans- C

2. संज्ञानात्मक विकास के चार चरणों- संवेदी पेशीय, पूर्व संक्रियात्मक, स्थूल संक्रियात्मक और औपचारिक संक्रियात्मक की पहचान की गई है-

A. हिलगार्ड द्वारा

B. स्टाॅक द्वारा

C. हरलाक द्वारा

D. पियाजे द्वारा

Ans- D

3. पियाजे के अनुसार विकास की पहली अवस्था (जन्म से लगभग 2 वर्ष आयु) के दौरान बच्चा..... सबसे बेहतर सीखता है-

A. अमूर्त तरीके से चिंतन द्वारा

B. भाषा के नए अर्जित ज्ञान के अनुप्रयोग द्वारा

C. इंद्रियों के प्रयोग द्वारा

D. निष्क्रिय शब्दों को समझने में

Ans- C

4.‌ बच्चे अपनी समझ से विश्व की परिकल्पना करते हैं यह कथन किसने दिया था -
A.स्किनर

B. पैवलव

C. पियाजे

D. कोहलवर्ग

Ans- C

5. उत्तर बाल्यावस्था मैं बालक भौतिक वस्तुओं के किस आवश्यक तत्व में परिवर्तन समझने लगते हैं-

A. द्रव्यमान

B. द्रव्यमान और संख्या

C. द्रव्यमान संख्या और क्षेत्र

D. संख्या

Ans- C

6. निम्नलिखित में से कौन सा निहितार्थ पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत से नहीं निकाला जा सकता ?

A. बच्चों की अधिक ज्ञानात्मक तत्परता के प्रति संवेदनशीलता

B. व्यक्तिक वेदों की स्वीकृति

C. खोजपूर्ण अधिगम

D. शाब्दिक शिक्षण की आवश्यकता

Ans- d

7 . बालकों की सोच अमूर्ता की अपेक्षा मूर्त अनुभवों एवं प्रत्यय से होती है। यह अवस्था है-

A. 7 से 12 वर्ष तक

B. 12 से व्यस्क तक

C. 2 से 7 वर्ष तक

D. जन्म से 2 वर्ष तक

Ans- A

लेव वाइगोस्तकी पर आधारित प्रश्न


 1. वाइगोत्सकी के अनुसार सीखने को पृथक नहीं किया जा सकता-

A. उसके सामाजिक संदर्भ से

B. अब बोलने और अबधनात्मक प्रक्रियाओं से

C. पुनर्बलन से

D. व्यवहार में मापने योग्य परिवर्तन से

Ans- A

2. वाइगोत्स्की के अनुसार, समीपस्थ विकास का क्षेत्र है-

A. अध्यापिका के द्वारा दिए गए सहयोग की सीमा निर्धारित करना।

B. बच्चे के द्वारा स्वतंत्र रूप से किए जा सकने वाले तथा सहायता के साथ करने वाले कार्य के बीच अंतर।

C. बच्चे को अपना समर्थन प्राप्त करने के लिए उपलब्ध कराए गए सहयोग की मात्रा एवं प्रकृति।

D. बच्चे अपने आप क्या कर सकती है इसका आकलन नहीं किया जा सकता है।

Ans- B

3. जब वयस्क सहयोग से सामंजस्य कर लेते हैं तो वे बच्चे के वर्तमान स्तर के प्रदर्शन को संभावित क्षमता के स्तर के प्रदर्शन की तरफ प्रकृति क्रम को सुगम बनाते हैं इसे कहा जाता है?

A. समीपस्थ विकास

B. सहयोग देना

C. सहभागी अधिगम

D. सहयोगात्मक अधिगम

Ans- A

4. वाइगोत्सकी  के सामाजिक सांस्कृतिक सिद्धांत के अनुसार-

A. संस्कृति और भाषा संज्ञानात्मक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

B. बच्चे अलग क्षेत्र में चिंतन करते हैं और वह पूर्ण परिप्रेक्ष्य नहीं लेते

C. यदि निम्न आयु पर अमूर्त सामग्री को प्रस्तुत किया जाए तो बच्चे अमूर्त तरीके से चिंतन करते हैं।

D. स्व निर्देशित वाक् सहयोग का निम्नतम स्तर है

Ans- A

5. वाइगोत्सकी के सिद्धांत में विकास के निम्नलिखित में कौन से पहलू की उपेक्षा होती है?

A. सांस्कृतिक

B. जैविक

C. भाषायी

D. सामाजिक

Ans- B

6. वाइगोत्सकी बच्चों के सीखने में निम्नलिखित में से किस कारक की महत्वपूर्ण भूमिका पर बल देते हैं?

A. आनुवंशिक

B. नैतिक

C. शारीरिक

D. सामाजिक

Ans- D

ब्लूम की टैक्सोनोमी पर आधारित प्रश्न


1. निम्नलिखित में से सीखने का क्षेत्र कौन सा है ?

A. भावनात्मक

B. अनुभाविक

C. आध्यात्मिक

D. व्यावसायिक

Ans- A

2. निम्नलिखित में से कौन सा गत्यात्मक के अंतर्गत आता है?

A. नियंत्रण

B. विश्लेषण

C. अनुमूल्यन

D. व्यावस्थापन

Ans- A

3. शिक्षा में उद्देश्यों का वर्गीकरण दिया गया है ?

A. भावनात

B. अनुभाविक

C. आध्यात्मिक

D. व्यावसायिक

Ans- A

4. बालक सोचने विचारने के बाद सही निर्णय ले सकता है यह किस प्रकार का उद्देश्य है ?

A. अभिरूचि

B. अवबोध

C. मूल्यांकन

D. कौशल

Ans- C

5. बच्चों के संज्ञानात्मक विकास को सबसे अच्छे तरीके से कहां परिभाषित किया जा सकता है?

A. आडिटोरियम

B. खेल के मैदान

C. विद्यालय एवं कक्षा में

D. उपरोक्त सभी

Ans- C

CDP के महत्वपूर्ण नोट्स लिंक

CDP NOTES PDF
अभिप्रेरणा  Click here
ध्यान एवं रूचि Click here
स्मृति एवं विस्मृति Click here
वंशानुक्रम एवं वातावरण Click here 
अभिवृद्धि एवं विकास Click here
अधिगम संबंधी समस्याएं Click here

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

close