व्यास सम्मान 2023 | Vyas samman 2023

व्यास सम्मान(Vyas samman 2023) हिंदी साहित्य का सर्वोच्च सम्मान है। 2021-2023 के लिए यह सम्मान हिंदी की प्रसिद्ध लेखिका पुष्पा भारती को उनके संस्मरण “यादें, यादें और यादें” के लिए प्रदान किया गया है। यह पुस्तक हिंदी साहित्य के कुछ महान लेखकों के साथ उनकी व्यक्तिगत मुलाकातों और अनुभवों को दर्शाती है।

व्यास सम्मान 2021-2023 (Vyas samman)

इसकी स्थापना 1991में के के बिडला फाउंडेशन के द्वारा की गई। यह पुरस्कार हिन्दी लेखन में 10 वर्षो के उत्कृष्ट साहित्यिक कार्य के लिए दिया जाता है।  वर्तमान में इनामी राशि ₹ 4 लाख एवं एक प्रशास्ति पत्र और एक पट्टीका दी जाती है। पहला व्यास सम्मान 1991 में राम विलास शर्मा को उनकी रचना भारत के प्राचीन भाषा परिवार और हिन्दी के लिए दिया गया।

व्यास सम्मान 2020 | Vyas samman

व्यास सम्मान 1991 से अब (2023) तक

वर्षलेखक का नामरचना या कृतिविधा
1991राम विलास शर्माभारत के प्राचीन भाषा परिवार और हिन्दी
1992डा. शिव प्रसाद सिंहनीला चांदउपन्यास
1993गिरजा कुमार माथुरमैं वक्र के सामनेकाव्य
1994धर्मवीर भारतीसपना अभी भीकाव्य संग्रह
1995कुंवर नारायणकोई दूसरा नहींकाव्य संग्रह
1996प्रो राम स्वरूप चतुर्वेदीहिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास
1997केदार नाथ सिंहउत्तर कबीर तथा अन्य कविताएंकाव्य
1998गोविंद मिश्रपांच आॅगनो वाला घरउपन्यास
1999श्री लाल मिश्रविसरामपुर का संतउपन्यास
2000गिरिराज किशोरपहला गिरमिटियाउपन्यास
2001रमेश चंद्र शाहआलोचना का पक्षआलोचना
2002कैलाश बाजपेईपृथ्वी का कृष्ण पक्षप्रबन्ध काव्य
2003चित्रा मुद्गलआवांउपन्यास
2004मृदुला गर्ग कंठ गुलाबउपन्यास
2005चन्द्रकांताकथा सरितासारउपन्यास
2006परमानंद श्रीवास्तवकविता का अर्थ
2007कृष्णा सोबतीसमय सरगमउपन्यास
2008मन्नू भंडारीएक क यह भीआत्मकथा
2009अमर कांतइन्हीं हथियारों से
2010विश्वनाथ प्रसाद तिवारीफिर भी कुछ रह जाएंगे
2011रामदरश मिश्रआम के पत्तेकाव्य संग्रह
2012नरेंद्र कोहली न भूतो न भविष्यतिउपन्यास
2013विश्वनाथ त्रिपाठीव्योमकेश दरवेशसंस्मरण
2014कमलकिशोर गोयनकाप्रेमचंद की कहानियों का काल क्रमानुसार अध्धयन
2015डाॅ सुनीता जैनक्षमाकाव्य
2016सुरेंद्र वर्माकाटना शमी का वृक्ष
2017 ममता कालियादुक्खम – सुक्खम
2018 लीलाधर जगूडीजितने लोग उतने प्रेम
2019नासिरा शर्माकागज की नाव
2020प्रो शरद पगोर पाटिलपुत्र की साम्राज्ञी30 वां व्यास सम्मान
2021असगर वजाहतमहाबलीनाटक (31 वां व्यास सम्मान)
2022डा ज्ञान चतुर्वेदी पागलखाना
2023पुष्पा भारतीसंस्मरण “यादें, यादें और यादें”

33वां व्यास सम्मान, 2023

  • कब: 11 दिसंबर, 2023 को
  • किसके द्वारा: के. के. बिड़ला फाउंडेशन
  • प्रदान किया जाएगा: हिंदी की प्रसिद्ध लेखिका पुष्पा भारती को
  • किस पुस्तक के लिए: संस्मरण “यादें, यादें और यादें” के लिए
See also  सरस्वती सम्मान सूची | Saraswati Samman list

इस पुस्तक में: माखनलाल चतुर्वेदी, अज्ञेय, महादेवी वर्मा, निराला, राही मासूम रजा, विष्णुकांत शास्त्री, कमलेश्वर, हरिवंशराय बच्चन कवि प्रदीप, धर्मवीर भारती जैसे लेखकों के बारे में परिचय प्राप्त होता है।

  • यह पुस्तक प्रकाशित की गई थी: वर्ष 2016 में
  • पुरस्कार राशि: 4 लाख रुपये, प्रशस्ति पत्र तथा स्मृति चिन्ह
  • 32वां व्यास सम्मान दिया गया था: डॉ. ज्ञान चतुर्वेदी उपन्यास ‘पागलखाना’ के लिए

टिप्पणी

  • पुष्पा भारती को उनके संस्मरण “यादें, यादें और यादें” के लिए 33वां व्यास सम्मान प्रदान किया गया है। यह पुस्तक हिंदी साहित्य के कुछ महान लेखकों के साथ उनकी व्यक्तिगत मुलाकातों और अनुभवों को दर्शाती है।
  • 32वां व्यास सम्मान डॉ. ज्ञान चतुर्वेदी को उनके उपन्यास “पागलखाना” के लिए प्रदान किया गया था। यह उपन्यास एक पागलखाने में रहने वाले एक व्यक्ति की कहानी बताता है।

पुष्पा भारती के बारे में

पुष्पा भारती हिंदी की प्रसिद्ध लेखिका हैं। उन्होंने कई पुस्तकों की रचना की है, जिनमें उपन्यास, कहानी संग्रह, संस्मरण और रेखाचित्र शामिल हैं। उनकी कुछ प्रमुख कृतियों में “शुभागता”, “ढाई आखर प्रेम के”, “सरस संवाद”, “सफर सुहाने” और “यादें, यादें और यादें” शामिल हैं।

पुष्पा भारती का जन्म 1944 में उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में हुआ था। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने कई वर्षों तक पत्रकारिता में काम किया।

पुष्पा भारती को उनके लेखन के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जिनमें व्यास सम्मान, साहित्य अकादमी पुरस्कार और पद्मश्री शामिल हैं।

#vyas samman 2022 winner

#vyas samman hindi

#Vyas samman 2021 winner

#vyas samman 2020 pdf

यह भी पढ़ें ->>

2 thoughts on “व्यास सम्मान 2023 | Vyas samman 2023”

Leave a Comment