व्हिटली अवार्ड विजेता नुक्लू फोम | ग्रीन आस्कर अवार्ड 2021

व्हिटली अवार्ड विजेता नुक्लू फोम | ग्रीन आस्कर अवार्ड 2021


 ‘ग्रीन आस्कर अवार्ड’ को ‘व्हिट्ली अवार्ड’ भी कहा जाता है। 2021 का ग्रीन आस्कर पुरस्कार नागालैंड के नुक्लू फोम ने यह अवार्ड जीता है। वह ग्रीन आस्कर अवार्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने हैं। नुक्लू फोम को यह अवार्ड ‘अमूर फाल्कन’ प्रवासी पक्षी के संरक्षण के लिए दिया गया। यह यह पुरस्कार अमूल फाल्कन के भाग्य को बदलते हुए एक नये जैव-विविधता शांति गलियारे की स्थापना के लिए जो हर साल नागालैंड घूमने के लिए आता है। और स्थानीय लोगों द्वारा शिकार किया जाता है। 

ग्रीन आस्कर या व्हिटली अवार्ड  (Whitley Award) 2021

इस अवार्ड को प्रति वर्ष ‘व्हिटली फंड फाॅर नेचर’ नाम की संस्था द्वारा पक्षियों के संरक्षण तथा जैवविविधता संरक्षण के लिए किये गये अद्वितीय कार्यो के लिए प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार प्राप्त करने वालों को 40,000 पांउड मिलते हैं। इसमे संदर्भ, आवेदन, और साक्षात्कार की प्रक्रिया भी शामिल है। 

व्हिटली फंड फाॅर नेचर 

  • यह संस्था राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय विजेताओं प्रोत्साहन देने का कार्य करती है।
  • यह संस्था जैव विविधता के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के लिए कार्यरत् है।
  • यह विज्ञान और सामुदायिक भागीदारी पर आधारित परियोजनाओं का समर्थन करता है।
  • यह संस्था किसी देश जो जैवविविधता सम्पन्न हैं वहां  के स्थानीय व्यक्ति जो पक्षियों को संरक्षण के लिए विशेष कार्य करते हैं। उनको खोजने का कार्य करती है। तथा उन्हें प्रोत्साहित करती है।

Congratulations to Nuklu Phom the only person from India to win the prestigious #WhitleyAwards 2021 for his work; “Establishing a biodiversity peace corridor’.
The award is one of the world’s leading prizes for grassroots conservation. My best wishes for all his future endeavours pic.twitter.com/ypfE6PyIwb

— Neiphiu Rio (@Neiphiu_Rio) May 13, 2021

 

See also  विश्व पृथ्वी दिवस 2022 की थीम | World Earth Day Theme 2022

✨MEET THE 2021 WHITLEY AWARD WINNERS✨

These conservationists are working with communities in their home countries, leading grassroots action to benefit wildlife, habitats and people.

Watch the #WhitleyAwards🎬👉https://t.co/2Ea2V6s27Q #RootToRecoveryhttps://t.co/tFIzAYEJJM

— WhitleyFundforNature (@WhitleyAwards) May 13, 2021

अमूर फाल्कन (Amur Folcone)

  • यह पक्षी बाज परिवार से सम्बन्ध रखता है।
  • इसका मूल निवास साइबेरिया तथा उत्तरी चीन है।
  • सर्दियों में यह पक्षी भारत के पूर्वोत्तर राज्य, नागालैंड, मणिपुर तथा असम आदि क्षेत्रों में देखने को मिलते हैं।
  • इसे IUCN की रेड डाटा बुक में ‘कम चिंताजनक’ श्रेणी में डाला गया है।

Leave a Comment