एबेल पुरस्कार 2023 | Abel Prize 2023


एबेल पुरस्कार 2023

ऐबल पुरस्कार 2023 | Abel Prize 2023

एबेल पुरस्कार 2023 अर्जेंटीना के “लुइस कैफरैली Luis Caffarelli को दिया गया। ‘लुइस कैफरैली’ ब्यूनर्स आयर्स, अर्जेंटीना के मूल निवासी हैं। यह पुरस्कार इन्हें गणित के क्षेत्र में भौतिक परिवर्तनों का वर्णन करने वाली समीकरणों पर शोध करने के लिए एबेल पुरस्कार 2023 से सम्मानित किया गया। एबेल पुरस्कार 2022 अमेरिका के गणितज्ञ डेनिस पार्नेल सुलिवन‘ कै दिया गया था। एबेल पुरस्कार का नाम नार्वे के गणितज्ञ ‘नील्स हेनरिक एबेल’ के नाम पर रखा गया है।

एबेल पुरस्कार के बारे में- 

  • एबेल पुरस्कार नॉर्वेजयन एकेडमी आफ साइंस एंड लेटर्स द्वारा दिया जाता है।
  • यह पुरस्कार गणित के क्षेत्र में जीवन भर की उपलब्धि हेतु प्रदान किया जाता है।
  • इसमें पुरस्कार सम्मान राशि 7.5 मिलियन नॉर्वेजियन क्रोनर विजेता को दी जाती है।
  • एबेल पुरस्कार 2022 ‘डेनिस पार्नेल सुलिवन’ (अमेरिकी गणितज्ञ)  को दिया गया।

एबेल पुरस्कार (Abel Prize) क्या है ?

एप्पल पुरस्कार गणित के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे बड़ा पुरस्कार होता है। इसे गणित का नोबेल भी कहा जाता है। यह प्रत्येक वर्ष नॉर्वे के द्वारा गणित के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्य के लिए या पुरस्कार प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार की शुरुआत वर्ष 2003 से शुरू हुई। इसमें पुरस्कार स्वरूप 7.5 मिलियन नॉर्वेजियन क्रोनर सम्मान राशि प्रदान की जाती है।

एबेल पुरस्कार से पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

1. एबेल पुरस्कार की शुरुआत कब हुई ?
Ans- एबेल पुरस्कार की शुरूआत वर्ष 2003 में हुई।
2. एबेल पुरस्कार पाने वाले एकमात्र भारतीय कौन है?
Ans- श्री निवास एस आर वर्धन 
3. प्रथम एबेल पुरस्कार किसे प्रदान किया गया?
Ans- ‘जीन-पियर सेर’ को।
यह भी पढ़ें->>

See also  पुस्तकें और उनके लेखक 2021 | Books and Author list pdf 2021

Leave a Comment