क्या है G20 : इसकी स्थापना, महत्व व इतिहास

क्या है G20 : क्या है इसका महत्व व इतिहास

 क्या है G-20|G20 Kya hai in hindi

G20 (जी 20) एक अंतरराष्ट्रीय आर्थिक संगठन है। जिसमें दुनिया के 19 प्रमुख और एक यूरोपीय संघ के प्रतिनिधित्व से बने देश शामिल हैं। इस संगठन का मुख्य उद्देश्य आर्थिक सहयोग, ग्लोबल आर्थिक सुधार, और वित्तीय स्थिति के मुद्दों पर चर्चा करना है। G20 के सदस्य देश ब्राज़िल, चीन, भारत, रूस, साउथ कोरिया, अमेरिका, कनाडा, जर्मनी, फ्रांस, यूक्रेन, यूनाइटेड किंगडम, जापान, आस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, इंडोनेशिया, मेक्सिको, तुर्की, दक्षिण अफ्रीका, आर्जेंटीन, इटली, और यूरोपीय संघ के रूप में हैं। G20 विश्व की महत्वपूर्ण आर्थिक मुद्दों पर सहमति और समझौता करने के लिए महत्वपूर्ण रूप से उपयोग किया जाता है। वर्ष 2023 में G20 की अध्यक्षता भारत कर रहा है।
2023 की अध्यक्षता भारत
आयोजन स्थल नई दिल्ली, भारत
G20 का लोगो 2023 7 पंखुड़ियों वाला कमल का फूल(ये 7 पंखुड़ियां 7 महाद्वीपों को दर्शाती हैं)
G 20 की थीम 2023 बसुधैव कटुबंकम (एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य)

G-20 का महत्व (Important of G20)

G20, जिसे “ग्रुप ऑफ 20″ के रूप में जाना जाता है, एक अत्यधिक महत्वपूर्ण ग्लोबल आर्थिक संगठन है। इसका महत्व निम्नलिखित कारणों से है:

1.
 आर्थिक संगठन: G20 विश्व के 20 प्रमुख आर्थिक देशों का समूह है, जिसमें वे देश शामिल हैं जो कुल आर्थिक गतिविधियों का अधिकांश करते हैं। इसलिए, यह एक महत्वपूर्ण आर्थिक संगठन है जो आर्थिक  मुद्दों पर चर्चा करता है।

2.
 वित्तीय संसाधनों का प्रबंधन: G20 द्वारा आयोजित बैठकों में वित्तीय संसाधनों के प्रबंधन और ग्लोबल वित्तीय स्थिति पर चर्चा की जाती है।

3.
 ग्लोबल रोजगार और विकास: G20 का उद्देश्य ग्लोबल  रोजगार के साथ ही विकास को भी समर्थन देना है। यह सदस्य देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देता है।

4.
 संतुलन और साझा दिशा: G20 के सदस्य देश आर्थिक मुद्दों पर मतभेद को हल करने के लिए मिलकर काम करते हैं और साझा दिशा में समझौते करते हैं।

5.
 Global security: The G20 plays an important G20, जिसे “ग्रुप ऑफ 20” के रूप में जाना जाता है, एक अत्यधिक महत्वपूर्ण ग्लोबल आर्थिक संगठन है। 

G-20 का मुख्यालय व अध्यक्ष 

इसका मुख्यालय नहीं है। वर्ष 2023 की G20 की अध्यक्षता भारत कर रहा है। इसलिए वर्ष 2023 में इसके अध्यक्ष भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी हैं।

G-20 की स्थापना कब और कहां हुई

जी-20 (G-20) की स्थापना 26 सितम्बर,1999 में हुई थी, और उस समय के वित्तीय संकट को समझने और समझने के लिए बनाया गया था।  इसका पहला शिखर सम्मेलन वर्ष 2008 में अमेरिका में हुआ था।  जी-20 विश्व के बड़े अर्थतंत्र देश का एक समूह है जो अर्थव्यवस्थाओं को रोजगार और समृद्धि प्रदान करने के उद्देश्य से मिलकर काम करता है।


G20 के सदस्य देश सूची

ग्रुप ऑफ ट्वेंटी (G20) में 19 देश तथा यूरोपीय संघ शामिल हैं। G20 सदस्य देशों में वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 85%, वैश्विक व्यापार का 75% से अधिक और विश्व की लगभग दो-तिहाई आबादी है। G20 के ये हैं सदस्य देश:-
1. अर्जेंटीना 
2. ऑस्ट्रेलिया
3. ब्राजील
4. कनाडा
5. चीन
6. फ्रांस
7. जर्मनी
8. भारत 
9. इंडोनेशिया
10. इटली
11. जापान
12. कोरिया गणराज्य
13. मैक्सिको
14. रूस
15. सऊदी अरब
16. दक्षिण अफ्रीका
17. तुर्किये
18. यूनाइटेड किंगडम
19. संयुक्त राज्य अमेरिका
20. यूरोपीय संघ

G20 शिखर सम्मेलन 2023 के अतिथि देश

जी 20 शिखर सम्मेलन 2023 का आयोजन भारत में सम्पन्न हुआ जिसमें 9 अतिथि देश बांग्लादेश, इजिप्ट, नाइजीरिया, नीदरलैंड, मारिसस, स्पेन, ओमान, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात आदि देश शामिल है।

19 वीं G20 प्रेसीडेंसी 2024 : ब्राजील 


भारत ने जी 20 की 19 वीं प्रेसीडेंसी ब्राजील को सौंप दी गई है। 2024 की अध्यक्षता ब्राजील करेगा। इसका प्रतीक हथौड़ा है। 18 वीं G20 का शिखर सम्मेलन नई दिल्ली, भारत में सम्पन्न हुआ था। वहीं बात करें 17 वीं G20 की तो इसकी अध्यक्षता इंडोनेशिया ने किया था।

क्या है G20 : क्या है, इसकी स्थापना, महत्व व इतिहास


See also  वर्तमान में कौन क्या है 2021 | Bhart me kon kya hai PDF list in 2022

Leave a Comment