-->

अनामिका ( हिन्दी कवयित्री) का जीवन परिचय | अनामिका बायोग्राफी हिन्दी में

 

अनामिका ( हिन्दी कवयित्री) का जीवन परिचय | अनामिका बायोग्राफी हिन्दी में
अनामिका (हिन्दी कवयित्री)

 

  आधुनिक समय में हिन्दी भाषा की प्रमुख कवयित्री, कहानीकार और उपन्यासकार अनामिका जी का जन्म 17 अगस्त 1961 को बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में हुआ था। ये समकालीन हिंदी कविता की चंद सर्वाधिक चर्चित कवयित्रीयों में शामिल की जाती हैं। ये हिन्दी कविता में अपने विशिष्ट योगदान के लिए जानी जाती हैं। इनको 'टोकरी में दिगंत' नामक काव्य संग्रह के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार 2021 का पुरस्कार दिया गया है। 

जन्म          -    17 अगस्त, 1961
जन्म स्थान  -    मुजफ्फरपुर, बिहार
शिक्षा         -     दिल्ली विश्वविद्यालय से एम.ए. पीएचडी, डी.लिट.
प्रसिद्धि      -      कवयित्री
पुरस्कार     -   राजभाषा परिषद पुरस्कार, साहित्य सम्मान, भारतभूषण                                 अग्रवाल, केदार सम्मान तथा साहित्य अकादमी पुरस्कार 2021।
अध्यापन   -   अंग्रेजी विभाग, सत्यवती काॅलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय

लेखन कार्य:

कविता संग्रह - गलत पते की चिठ्ठी, अनुष्टुप, बीजाक्षर, समय के शहर में,                                 खुरदरी हथेलियां, दूवधान, टोकरी में दिगंत थोरी गाथा

आलोचना  -    पोस्ट एलियट पोएट्री, स्त्रीत्व का मानचित्र, तिरियाचरित्रम् 
                       मन मांजने की जरूरत, पानी जो पत्थर पीता है

कहानी     -   प्रतिनायक 

उपन्यास   -   अवांतरकथा, पर कौन सुनेगा, दस द्वारे का पिंजरा, तिनका                               तिनके पास 




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां