CTET EXAM 2021: राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा NCF-2005)

CTET EXAM 2021: राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा NCF-2005)

 राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा -2005

स्थापना         - NCERT द्वारा
कार्य निर्देशक - प्रोफेसर कृष्ण कुमार
लक्ष्य             - आत्म ज्ञान
सूत्र               - शिक्षा बिना बोझ के (यशपाल समिति 1993)
प्रारूपक        - रविंद्र नाथ टैगोर
निबंध            - सभ्यता एवं प्रगति
अध्यक्ष          - प्रोफेसर यशपाल (MHRD)

NCF-2005 विद्यालय शिक्षा का सबसे नवीनतम दस्तावेज है

 

 राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा के सिद्धांत (मार्गदर्शक)

➣ ज्ञान को विद्यालय से बाहरी जीवन से जोड़ना
➣पढ़ाई रिटर्न प्रणाली से मुक्त हो
➣बच्चों का चहुमुखी विकास
➣परीक्षा को लचीला बनाना (बच्चों के मन से डर को निकालना) कक्षा को गतिविधियों से जोड़ना ( करके सीखना)
➣ प्रजातांत्रिक राज व्यवस्था के अंतर्गत राष्ट्रीय चिंताएं समाहित हो ( or) राष्ट्रीय महत्व के बिंदुओं को पाठ्यक्रम में शामिल करना

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा की प्रमुख बाते

➣पाठ्यक्रम को व्यवहारिक बनाने पर जोर दिया जाए (NCC,NSS संगीत चित्रकला)
➣शिक्षण सूत्रों का प्रयोग करना ( ज्ञात से अज्ञात , मूर्त से अमूर्त की ओर का अधिक प्रयोग)
➣मोटी किताबों के बजाय वास्तविक ज्ञान दिया जाए
➣प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा को महत्व दिया जाए
➣संस्कृत को सिखाना
➣पुस्तकालय में स्वयं पुस्तक चुनने का अवसर देना

  राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा के अंग (भाग)

➣ परिपेक्ष्य 
➣ सीखने का ज्ञान 
➣ पाठ्यचर्या के क्षेत्र स्कूल की अवधारणा एवं आकलन
➣विद्यालय का कक्षा का वातावरण 
➣व्यवस्थागत सुधार

  NCF-2005 में शिक्षक के प्रति दृष्टिकोण

शिक्षक ज्ञान का स्रोत नहीं अपितु एक ऐसा सुगमकर्ता है जो सूचना को अर्थ /बोध मैं बदलने की प्रक्रिया में विविध उपायों द्वारा बच्चों हेतु सहायक

  NCF-2005 में बच्चों के प्रति दृष्टिकोण

प्रत्येक बच्चे की सीखने की गति / प्रगति अलग होती है सभी बच्चे सक्रिय रूप से पूर्ण ज्ञान एवं उपलब्धि सामग्री /गतिविधियों के आधार पर अपने लिए अर्थ निर्माण करते हैं।

    गणित के प्रति दृष्टिकोण

बच्चे गणित की मूल संरचना को समझने ,अंकगणित /बीजगणित /रेखागणित /त्रिकोणमिति के सभी मूल तत्व समस्या समाधान की अनेक युक्तियां अर्थात सामान्य,परीक्षण, स्थिति, अनुमान लगाना  आदि मुहैया कराते हैं।

 भाषा के प्रति दृष्टिकोण

बच्चों में भाषा समझने ,अभिव्यक्ति करने की क्षमता जन्मजात होती है।

NCF 2005 से बार बार पूछे गये प्रश्न

1. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 के अनुसार गणित शिक्षण का मुख्य उद्देश्य है।
A. बच्चों को अंकगणित का ज्ञान देना
B. बच्चों में गणित के प्रति रुचि पैदा करना
C. बच्चों में तार्किक चिंतन तथा समस्या-समाधान योग्यता का विकास करना
D. संवेगात्मक विकास करना
ans:c

2. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 के अनुसार शिक्षक की भूमिका है।                        CTET-2016,2015
A. सत्तावदी
B. अधिनायक की
C.अनुमति परख
D.सुविधादाता(सुगम कर्ता)
ans:d

3. एक शिक्षक की प्राथमिक भूमिका क्या होनी चाहिए
A.बच्चों को अपनी समझ और अपने ज्ञान को साझा करने के पर्याप्त अवसर देना
B. बच्चों के अनुभवों को निरस्त कर पाठ्य -पुस्तकों पर ध्यान केंद्रित करना
C. पाठ्यपुस्तक के अध्ययनों को क्रमवार पूरा करना
D. यह सुनिश्चित करना कि शिक्षिका अच्छे प्रश्न पूछे और शिक्षार्थी अपनी उत्तर पुस्तिका में उत्तर लिखें
ans: a

4. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 के आधारभूत सिद्धांत में निम्नलिखित में से कौन सा भाग सम्मिलित नहीं है।
A. अच्छी वाह्य परीक्षा का आयोजन कराना
B. रटने को महत्व प्रदान न करना
C. पुस्तकों के स्तर ज्ञान प्रदान करना
D. ज्ञान को वास्तविक जीवन से जोड़ना
ans:a

5. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 की संस्तुतियों के संबंध में कौन सा कथन सही नहीं है।
A. विश्वविद्यालय को राजनीति से मुक्त रखना
B. ज्ञान को बाह्य जीवन से जोड़ना
C. राष्ट्र के प्रजातांत्रिक मूल्यों का सम्मान
D. परीक्षाओं में लचीलापन
ans: a

6. NCF-2005 के संबंध में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है
A. वह भारत की विद्यालय शिक्षा के संबंध में एक संवैधानिक संशोधन है
B. यह NCERT द्वारा तैयार किया गया दस्तावेज है
C. वह कठोर है।
D. उपरोक्त में से कोई नहीं
ans: b

7. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 के अनुसार अधिगम अपने स्वभाव में ......... और......... है।
A. निष्क्रिय ; सरल
B. सक्रिय ; सामाजिक
C. निष्क्रिय; सामाजिक
D. सक्रिय ; सरल
ans: b

8. पाठ्यक्रम होना चाहिए
A. विद्यालय केंद्रित
B. शिक्षक केंद्रित
C. छात्र केंद्रित
D. इनमें से सभी
ans: c

9. 'पाठ्यक्रम' निम्नलिखित में से शिक्षण के कौन से चर में आता है।
A. आश्रित चर (छात्र)
B. मध्यस्थ  चर
C. स्वतंत्र चर (शिक्षक)
D. उपयुक्त सभी
ans: b

10. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 के अध्यक्ष कौन थे।
A. महात्मा गांधी
B. डॉ राजेंद्र प्रसाद
C. प्रोफेसर यशपाल
D. उपर्युक्त में से कोई नहीं
ans: c


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ