CTET EXAM 2021: जीन पियाजे के सिद्धांत से बनने वाले ये प्रश्न परीक्षा के पहले जरूर पढ़ें

 जीन पियाजे के सिद्धांत


बच्चों के बौद्धिक विकास की चार विशिष्ट अवस्थाओं दवा की पहचान पियाजे द्वारा की गई है -
संवेदी गामक काल-- 0-2 वर्ष
पूर्व संक्रिया काल  -- 2-7 वर्ष
मूर्त संक्रियात्मक  --  7-11 वर्ष
औपचारिक संक्रिया काल -- 11- 15 वर्ष

CTET EXAM 2021: जीन पियाजे के सिद्धांत से बनने वाले ये प्रश्न परीक्षा के पहले जरूर पढ़ें

जीन पियाजे के सिद्धांत से बनने वाले प्रश्न


1. बालकों की सोच अमूर्ता की अपेक्षा मूर्त अनुभवों एवं प्रत्यय से होती है। यह अवस्था है-

A. 7 से 12 वर्ष तक

B. 12 से व्यस्क तक

C. 2 से 7 वर्ष तक

D. जन्म से 2 वर्ष तक

Ans- A

2. पियाजे के अनुसार बच्चों का चिंतन व्यस्क से.... भिन्न होता है बजाय.....के।

A. मात्रा; प्रकार

B. आकार; मूर्तपरकता

C. प्रकार; मात्रा

D. आकार; किस्म

Ans- C

3. संज्ञानात्मक विकास के चार चरणों- संवेदी पेशीय, पूर्व संक्रियात्मक, स्थूल संक्रियात्मक और औपचारिक संक्रियात्मक की पहचान की गई है-

A. हिलगार्ड द्वारा

B. स्टाॅक द्वारा

C. हरलाक द्वारा

D. पियाजे द्वारा

Ans- D

4. पियाजे के अनुसार विकास की पहली अवस्था (जन्म से लगभग 2 वर्ष आयु) के दौरान बच्चा..... सबसे बेहतर सीखता है-

A. अमूर्त तरीके से चिंतन द्वारा

B. भाषा के नए अर्जित ज्ञान के अनुप्रयोग द्वारा

C. इंद्रियों के प्रयोग द्वारा

D. निष्क्रिय शब्दों को समझने में

Ans- C

5.‌ बच्चे अपनी समझ से विश्व की परिकल्पना करते हैं यह कथन किसने दिया था -
A.स्किनर

B. पैवलव

C. पियाजे

D. कोहलवर्ग

Ans- C

6. उत्तर बाल्यावस्था मैं बालक भौतिक वस्तुओं के किस आवश्यक तत्व में परिवर्तन समझने लगते हैं-

A. द्रव्यमान

B. द्रव्यमान और संख्या

C. द्रव्यमान संख्या और क्षेत्र

D. संख्या

Ans- C

7. निम्नलिखित में से कौन सा निहितार्थ पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत से नहीं निकाला जा सकता ?

A. बच्चों की अधिक ज्ञानात्मक तत्परता के प्रति संवेदनशीलता

B. व्यक्तिक वेदों की स्वीकृति

C. खोजपूर्ण अधिगम

D. शाब्दिक शिक्षण की आवश्यकता

Ans- d

8. एक शिक्षिका अपनी कक्षा में कहती है सभी प्रकार के प्रदत्त कार्यों का निर्माण किस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके अतः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें वह कोहल वर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है ?

A. औपचारिक चरण - 4 कानून और व्यवस्था

B. पर औपचारिक चरण -5 सामाजिक संविदा

C. पूर्व औपचारिक चरण -1 दण्ड परिवर्जन

D. पूर्व औपचारिक चरण- 2 व्यक्तिक और विनिमय

Ans- A

9. नवीन जानकारी को शामिल करने के लिए वर्तमान स्कीमा में बदलाव की प्रक्रिया... कहलाती है

A. अनुकूलन

B. आत्मसात करण

C. समायोजन

D. अहम केंद्रीयता

Ans- C

10. पियाजे के अनुसार 2 से 7 वर्ष के बीच एक बच्चा संज्ञानात्मक विकास की..... अवस्था में है-

A. पूर्व संक्रियात्मक

B. औपचारिक संक्रियात्मक

C. मूर्त संक्रियात्मक

D. संवेदी गामक

Ans- C

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

close